गर्मियों में करे खीरे की खेती, कम समय में किसानो को बना देगी मालामाल, देखे खेती करने का सही तरीका

गर्मियों में करे खीरे की खेती, कम समय में किसानो को बना देगी मालामाल, देखे खेती करने का सही तरीका किसान भाइयो क्या आप भी मुनाफे की खेती कर अच्छा पैसा कमाना चाहते है तो आज हम आपकी जानकरी के लिए आपको बता दे की आज हम इस आर्टिकल में आपको ऐसी खेती के बारे में बतायेगे जिसकी खेती कर आप भारी मुनाफा कमा सकते है, आईये जाने पूरी जानकारी

गर्मियों में करे खीरे की खेती कम समय में बना देगी मालामाल

यह भी पढ़े- 7-सीटर सेगमेंट में Ertiga से भिड़ेगी Toyota की मिनी Innova, ब्रांडेड फीचर्स के साथ 26kmpl का माइलेज, देखे कीमत

किसान भाइयों हम आपकी जानकारी के लिए आपको बता दे की खीरे की मांग मार्केट में खूब रहती है लोग खीरे को खाने के साथ में चाव से खाते है और इसे शादियों पार्टियों में सलाद के लिए भी खूब ख़रीदा जाता है ऐसे में किसान खीरे की खेती करे तो अच्छा मुनाफा कमा सकते है।

खीरे की खेती के लिए कैसे होनी चाहिए मिट्टी

किसान भाइयो हम आपकी जानकरी के लिए आपको बता दे की खीरे की खेती के किसी भी मिट्टी में की जा सकती है, पर इसकी सफलतापूर्वक खेती के लिए बलुई दोमट तथा मटासी मृदा बेहतर मानी जाती है।

खीरे की खेती के लिए उन्नत किस्में

यह भी पढ़े- 7-सीटर सेगमेंट में Ertiga से भिड़ेगी Toyota की मिनी Innova, ब्रांडेड फीचर्स के साथ 26kmpl का माइलेज, देखे कीमत

किसान भाइयो हम आपकी जानकारी के लिए आपको बता दे की अगर आप खीरे की खेती से अच्छा मुनाफा कमाना चाहते है तो आपको खीरे की उन्नत किस्म की खेती करना होगा जिससे आप अच्छा उत्पादन निकाल सको हम आपको बता दे की खीरे की उन्नत किस्मों में पूसा संयोग, पाइनसेट, खीरा-90, टेस्टी, मालव-243, गरिमा सुपर, ग्रीन लॉंग, सदोना, एन.सी.एच.-2, रागिनी, संगिनी, मंदाकिनी, मनाली, य.एस.-6125, यू.एस.-6125, यू.एस.-249 जैसी किस्मे शामिल है।

खीरे की बुवाई का समय

किसान भाइयो जानकारी के मुताबिक़ हम आपको बता दे की खीरे की बुवाई का समय विशेष स्थान और जलवायु पर निर्भर करता है और शीत रूपी फसल के लिए, बीज बोने का समय फरवरी के मध्य से मार्च के पहले सप्ताह तक बेहतर होता है।

खीरे की सींचाई का समय

किसान भाइयो हम आपको जानकारी के मुताबिक़ बता दे की खीरे की सींचाई समय समय पर काफी ध्यान पूर्वक करनी चाहिए फसल में फूल आने के बाद हर पांच दिन के अन्तर पर सिंचाई अवश्य करे वहीं, जिन क्षेत्रों में सिंचाई के लिए पानी की कमी है, वहां ड्रिप इरिगेशन का इस्तेमाल किया जा सकता है, इससे खेत में पर्याप्त नमी बनी रहती है, साथ ही सिंचाई जल की आवश्यकता भी कम होती है।

खीरे की कटाई का समय और पैदावार

किसान भाइयो हम आपकी जानकारी के मुताबिक़ आपको बता दे की खीरे की फसल की अवधि 45 से 75 दिनों होती है, जिससे प्रति हेक्टेयर लगभग 100 से 150 क्विंटल उत्पादन किया जा सकता है और इसे बेच कर किसान बम्फर मुनाफा कमा सकता है।